HOLY PROPHECY 18 IN HINDI

print

HOLY PROPHECY 18 IN HINDI

भविष्यवाणी १८

सावधान उस अंधकार के चादर से जो नर्क से है

प्रेरित और भविष्यवक्ता (Apostle Prophet) शेरी एलिजा (Sherrie Elijah ) यहूदी में एलिशेबा शेरी एलियाहु (Elisheva Sherrie Eliyahu in Hebrew) को याहुवे (YAHUVEH) का दिया हुआ भविष्यवाणी |

March 26, 1998, 3:54 AM

हम परमेश्वर के येहूदी नामों का आदर और उपयोग करते हैं:

जैसे आल्लेलूइया (Alleluia) अथवा हालेलुयाह: (Hallelu YAH) הללו–יה का मतलब “याह: की जय” है | याह: अथवा याहु (YAH/ YAHU יה) परमेश्वर का पवित्र नाम है| याहुवे या याहवे (YAHUVEH or YAHWEH י-ה-ו-ה ), पिता परमेश्वर; याहुशुआ (येशु मसीह) (YAHUSHUA יהושוע), पिता परमेश्वर से उत्पन्न इकलौता पुत्र; हामशीहाख़ (HaMashiach המשיח) का मतलब मशीहा है; एलोहिम (ELOHIM אלוהים) का मतलब परमेश्वर है; यह प्रकाशित सत्या की श्खिन्याह: महिमा (SH’KHINYAH GLORY שכניה תפארה) ही रुआख़ हा कोडेश (पवित्र आत्मा) (RUACH HA KODESH רוח הקדש) का व्यक्तिगत नाम है, भी आपको इस वैबसाइट में मिलेगा | हा श्खिन्याह: (शेकिनाह) (HA SH’KHINAH שכינה {SHEKINAH}) येहूदी में परमेश्वर के दिव्य उपस्थिती और महिमा को कहा जाता है|
उसके उपरांत, अब्बा याह: (ABBA YAH אבא יה) का मतलब “पिता याह:” है और इम्मायाह: (IMMA YAH אמא יה) का मतलब “माता याह:” है | येहूदी में परमेश्वर के आत्मा को स्त्रीलिंग माना जाता है और उसी तरह इस वैबसाइट के सारे भविष्यवाणियों और वचनों में आपको वे मिलेंगे |

# पवित्र वचनों का जिक्र प्राय: KJV/NKJV or CJB (Complete Jewish Bible) से है|
# जो भी शब्द होली ट्रिनिटी को संभोधित करता है वह बोल्ड अक्षरों (bold font) में लिखा गया है, उनके आदर और सम्मान में|
# सामान्य हिन्दी भाषा में परमेश्वर को भी तू कहके संभोधित किया जाता है जो की उनका असम्मान
है| याहुवे परमेश्वर, याहुशुआ और पवित्र आत्मा परम पवित्र, सर्वशक्तिमान और पूजनीय है इसलिए हम हमेशा उनको आप कहके पुकारेंगे|
# यह भविष्यवाणी www.amightywind.com में प्रकाशित भविष्यवाणी का हिन्दी अनुवाद है।

पिता परमेश्वर  याहुवे का भविष्यवाणीयों से पहले चेतावनी:

 एलीशेवा मैंने तुझे  बहुत पहले ही, जब यह मिनिस्ट्री बना भी न था, तभी बता दिया था की इस मिनिस्ट्री को किसी पुरुष या स्त्री के नाम से नहीं बुलाया जायेगा | मैंने तेरे आत्मा में यह डाल दिया था क्योंकि ये सब कुछ  ना तो तेरे हाथों से ना ही तेरे शब्दों से बना है | बल्कि यह याहुवे (याह:वेह) के मुँह से जन्मा है | यह मिनिस्ट्री याहुशुआ (येशु मसीह) तुम्हारे मसीहा के मुँह से जन्मा है | यह मिनिस्ट्री रुआक हा कोडेश (पवित्र आत्मा) जो तुम्हारी ईमायाह: (स्वर्गीय माता) है, के मुँह से जन्मा है | अगर यह तेरे मुँह से निकला होता तो कब का विफल हो जाता | यह मिनिस्ट्री  श्खिन्याह: महिमा (SH’KHINYAH GLORY) की वो हवा जो पूरे विश्व में बेहती है, वह पुनर्जीवित करनेवाली पवित्र हवा से उत्पन्न हुआ है | यह तेरे सासों से नहीं जन्मा अथवा विफल हो जाता | (यशायाह ४२ :८)

यशायाह ४२:८
मैं याहुवे हूं, मेरा नाम यही है; अपनी महिमा मैं दूसरे को न दूंगा और जो स्तुति मेरे योग्य है वह खुदी हुई मूरतों को न दूंगा।

जुलाई २०१० में याहुवे एलोहिम ने २ इतिहास से  इस वचन को भी हर भविष्यवाणी से पहले शामिल करने को कहा:
२ इतिहास ३६:१६
परन्तु वे परमेश्वर के दूतों को मज़ाक में लेते, उसके वचन को तुच्छ जानते, और उसके नबियों की हंसी करते थे | अत: याहऊवेह अपनी प्रजा पर एसे क्रोधित हुए कि बचने का कोई उपाय न रहा |

भविष्यवक्ता कालेब की चेतावनी:
मैं उन सब को चेतावनी देता हूँ जो इस मिनिस्ट्री, यह पवित्र भविष्यवाणियाँ, एलिशेबा और मेरे, और AmightyWind Ministry के विरुद्ध आता है | मैं तुझे चेतावनी देता हूँ, “उन्हें मत हाथ लगा जो याहुवे के अभिषेकित हैं और उनके भविष्यवक्ताओं पे जुर्म न कर” (भजन साहिता १०५:१५, १ इतिहास १६:२२) कही तुझपर याह: की क्रोध की लाठी ना बरस पड़े | परंतु वे जो इस मिनिस्ट्री से आशिसित हैं और इस मिनिस्ट्री को आशिसित और सहायता करते हैं, और वफादार है, और वे जो इस भविष्यवाणियों को ग्रहण करते हैं, उनपर बहुत आशिशें बरसेगी — ताकि वो सब सुरक्षित रहे जो याह: का है, याहुशुआ के नाम में|

याहुशुआ हामशीहाख़ (येशु मसीह) में मेरे प्यारे परिवारजन,
मैंने आज ये भविष्यवाणी (Prophecy 18) पाया क्योंकि कल मैं उन छोटे बच्चों के लिए रो रही थी जिनकी बेवजा हत्या कर दी गयी | वजह बस यह थी की वे मारने वाले दो बच्चों को हत्या और तबाही की बुरी आत्माओं ने जकड़ लिया था | वे ग्यारह और तेराह साल के बच्चों को पता भी न चला की किस अदृश्य शक्ति ने उन्हें उस दिन ट्रिग्गर दबा के अपने हम उम्र साथियों की जानें लेने में मजबूर किया | सायद वे उन्हीं दोस्तों के साथ हँसते खेलेते थे पर उस दिन वो उनको जंगल में हिरणों को जैसे शिकार कर रहे थे। एक हिरन को तो फिर भी भागने और छुपने का मौका मिलता है, इन मासूम छोटे बच्चों को तो वह मौका भी न मिला | शैतान ने खुद को किस तरह उन दो बच्चों के माध्यम से प्रकट किया उसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते | ये घटना March 24, 1998 की है | इस के बारे मे यहाँ पड़े |
प्रार्थना अवश्य करें, पर प्रार्थना यह करें की ये सरकार जिसने विश्व के एक मात्र सुरक्षा, याहुशुआ हा मशीहाख़ (YAHUSHUA HA MASHIACH), और पवित्र बाइबल को स्कूलों से तिरस्कृत किया है, उन्हे दोबारा स्थापित करें | याहुवे के १० धर्मादेश के अनुसार हम कहते है: तू हत्या नहीं करेगा | पर हमारी सरकार हमारे बच्चों को कहती है: तुम मासूम कोख में पल रहे बच्चों की हत्या कर सकते हो जब तक उन्हें कोई नहीं देख सकता है, जब तक माँ के गर्व में सुरक्षित है | एक निर्दोष, मासूम और मजबूर बच्चे की कोख में ही निर्मम हत्या कर देना बिलकुल कानूनन जायज है | सब कुछ उसकी माँ पे निर्भर करता है |

याहुवे ख़ुदा कहते है……
तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई! तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई! तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई! तू मुझे पूछता है की कैसे मैंने ये होने दिया? तू कहता है याहुवे कहा थे जब इन मासूमों की हत्या हो रही थी? पर मुझे तो तेरे पब्लिक स्कूलों से ही बाहर कर दिया गया है| मेरा नाम केवल एक श्राप की तरह लिया जाता है| तु क्यों मेरे सुरक्षा की अपेक्षा करता है जब मेरे उपस्थिती की तुझे कोई कामना नहीं? ये हादसा क्या उस हादसे से भयावह है जब एक निर्दोष, बिलखते हुए मासूम बच्चे को उसके माँ के गर्व में ही गर्वपात दौरान असहनीय पीड़ा देकर मर दिया जाता है? सिर्फ इसलिए क्योंकि गर्वपात के समय उन बच्चों की दबी हुई चीखें सिर्फ मुझे सुनाई देती है जबकि उस स्कूल परिसर में बच्चों की चीखें सबको सुनाई दी? क्या तुझे समझ नहीं आता की वह एक ही बात है?

वह दो हत्या करने वाले बच्चों के अंदर हत्या की दुष्ट आत्मा घुस गई थी क्योंकी वे शैतान छेत्र में घुस गये थे| क्या मैंने ये नहीं कहा है (पवित्र वचनों) की जो तेरे हृदय में है वह असल जीवन में भी घटित होगा? बच्चों को आजकल टीवी, सिनेमा और गेम्स के जरिये खून, दरिंदगी और हिंसा परोसा जाता है| उनपर टीवी, थेयटेर्स और इंटरनेट के जरिये मृत्यु, तबाही, समलैंगिकता, असलीलता, नफरत और विद्रोह सिखाया जाता है| उनको सिखाया जाता है की आज के समय मे पवित्रता और निर्मलता की जरूरत नहीं है| तू मुझे पूछता है मैंने ये सब क्यों होने दिया? ये सब नहीं हुआ होता अगर उन बच्चों को मेरे नाम से गुहार लगाना सिखाया जाता|
जिन्होने उस त्रासदी को देखा और अनुभव किया है वे गवाह है की जब उन्होने मेरा नाम लिया तो मैं उनके पास था | मेरे स्वर्गदूत उनके लिए लड़े और उन्हें अपने पंखो से ढक लीया | ये सारे बच्चे अब स्वर्ग में है, हाँ वह सारे जिन्हे गर्वपात से मारा गया और वे भी जो स्कूल परिसर में मारे गये | पर यह सब मैंने होने दिया यह दिखाने के लिए की अमेरिका के सार्वजनिक स्कूलों में क्या हो रहा है | जहां स्कूलों से याहुशुआ-विरोधी, शैतानी आत्मिक ताक़तें हर पवित्रता को निकाल बाहर कर रहा है | अमेरिका तु मूल्य चुका रहा है और हर देश यह मूल्य चुकाएगा अगर वे अमेरिका के नक्शे कदम पर चलेंगे | ये तब तक चलता रहेगा जब तक अनियंत्रित गर्वपात का सिलसिला नहीं थमेगा | जिन्हे मेरे नाम को पुकारना नहीं सिखाया गया है मैं उन बच्चों के अंदर से शैतान को प्रकट होने की अनुमति देता रहुंगा | मैं शैतान को अनुमति दूंगा की वह संगीत और अन्य मीडिया के माध्यम से तुम्हारे बच्चों को दुषित करे और उन्हें मुझ से दूर ले जाए, तुम से दूर ले जाए और अपने माता-पिता, बड़ों और अधिकारियों से लड़ना सिखाये | क्योकि जब तुमने पवित्रता की इज्जत करना नहीं सिखाया और मेरे नियमों को नहीं सिखाया तब तुमने शैतान को अनुमति दे दी की वो उन्हें उसके बुरी आत्माओ से भर दे | यह बुरी आत्माए अमेरिका और उसके स्कूल सिस्टम को भ्रमित और उलझन में रखे रहेगी|
वह खेल जो पहले मासूम था और मेल-मिलाप सिखाता था आज वही खेल बच्चों को एक दूसरों से लड़ना और उनकी हत्या करना सिखाता है | क्या मेरा वचन यह नहीं कहता की अगर तुने पाप के बारे मे सोचा भी तो वो मेरे नजर मे पाप ही है? तेरी कल्पना, तेरी जागीर नहीं है, तुझे हर सोच और कल्पना को पहले कैद कर मेरे निरीक्षण मे लाना होगा | अगर कोई सोच भी तेरे किसी भाई के विरुद्ध पाप करता है तो वह पाप है|
२ कुरीन्थियों १०:५
सो हम कल्पनाओ को, और हर एक ऊंची बात को, जो परमेश्वर की पहचान के विरोध में उठती है, खंडन करते है; और हर एक भावना को कैद करके मसीह का आज्ञाकारी बना देते है |

दस उपदेशों मे सबसे बड़ा उपदेश यह है की तू अपने पड़ोसी को खुद की तरह प्यार करेगा| उसमे यह भी शामिल है की तू किसी की हत्या नहीं करेगा| पर गेम्स खेलते वक़्त तुम्हारे बच्चे अच्छे और बुरे दोनों का कत्ल करते है| सावधान, जैसे मैंने पहले भी मेरे इस सेवक के मुंह से पूछा था, फिर पूछ रहा हूँ, “शैतान आज रात तेरे बच्चों को क्या परोस रहा है, मीडिया, दोस्तों, गेम्स, संगीत और किताबों के माध्यम से?” सावधान शैतान को पता है की मैं इस दुनिया में एक मासूम बच्चा बनके आया था और अब वो बच्चों को सजा देना चाहता है, उनके आत्माओं को दूषित कर अपने साथ उन्हें नर्क ले जाना चाहता है|
तुम्हारी बच्चियां गर्ववती होती है तो उन्हें कहा जाता है की उस में कुछ भी गलत नहीं, बस गर्वपात करालो और सब ठीक है| कोई एक बार भी नहीं सोचता उस मासूम बच्ची के बारे में जिसे यह नहीं बताया गया की बहुत सारे लड़को के साथ शारीरिक संबंध रखना पाप है और वह कार्य उसके आत्मा को दुषित कर देती है| कोई एक बार भी नहीं सोचता उस मासूम बच्चे के बारे में जिसकी कोख में ही निर्मम हत्या कर दी जाती है | भले ही वो माँ एक युवती होगी पर उसने मेरे खिलाफ पाप किया है, सर्वशक्तिमान परमेश्वर याहुवे के खिलाफ | उसने अपने अजन्मे बच्चे को मारने की अनुमति देकर उसके खिलाफ गुनाह किया है जो केवल इस दुनिया मे आना चाहता था| कोई फर्क नहीं होता की कत्ल बंदूक से हो या डॉक्टर के हाथों, मेरी दृष्टि में दोनों ही हत्या है| उस माँ ने अपने शरीर, मन और आत्मा के खिलाफ भी पाप किया है| उसका मन कभी भी इस कुकर्म को नहीं भुला पाएगा भले ही मैं उसे छमा कर दूँ, अगर वो मेरे पास आकर छमा मांगे और इस बुराई से मुंह फेरे|
अब मैं ऐसी भविष्यवाणी कर रहा हूँ जो बहुत ही भयानक है पर इस तरह की हत्याओं की वारदातें और भी बड़ेंगी| माँ-बाप अपने बच्चों से डरेंगे| बच्चे माँ-बाप का नियंत्रण करेंगे क्यूंकी इस विद्रोह को बड़ने दिया गया है| अब राज्य सरकारें कहेगी की हमें तेरे बच्चों के ऊपर मालिकाना हक है| राज्य सरकारें ऐसे कानून लाएँगे जिससे तुम अपने बच्चों को अनुशाषित नहीं कर पाओगे | सरकारें पैरेंट्स के अधिकारों को तिल-तिल करके छिन रहे है और तब तक छिनते रहेंगे जब तक पैरेंट्स का अपने ही बच्चों पर कोई अधिकार शेष नहीं रह जाए| इसको और आगे बड़ने मत दो| शैतान तुझसे वो नहीं छिन सकता जो तु उसको लेने की अनुमति नहीं देता| मेरे नाम से अपने बच्चों पर दोबारा अधिकार स्थापित कर| अपने बच्चों को इस अनैतिक और अधर्मी गुफाओं से बाहर निकाल; तु उनके आत्माओं को खतरे में डाल कर उन्हें शिक्षा दे रहा है|
मुझे ढूंढ जब मैं आसानी से मिल रहा हूँ (यशायाह ५५:६) और मैं तुझे अपने बच्चों को दूसरे तरीके से शिक्षा देना सिखाऊँगा, आत्मिक और भौतिक दोनों तरीके से| मैं फिर से उनमें पवित्रता और नैतिकता से जीने की इच्छा जगाऊँगा| पब्लिक स्कूलों को एक अंधेरी चादर ने ढक लिया है और यह अंधकार सीधा नर्क के गर्व से आया है| यह अंधकार ने इस देश के कई युवकों को ढक लिया है, उनको जो मुझे अपना मशीहा और भगवान मानकर मेरी स्तुति नहीं करते |
यशायाह ५५:६-७
“जब तक याहुवे मिल सकते है तब तक उनकी खोज में रहो, जब तक वह निकट है तब तक उन्हें पुकारो; दुष्‍ट अपनी चालचलन और अनर्थकारी अपने सोच विचार छोड़कर याहुवे ही की ओर फिरे, वह उस पर दया करेगा, वह हमारे परमेश्‍वर की ओर फिरे और वह पूरी रीति से उसको क्षमा करेगा।

बच्चे कष्ट में हैं क्योकि माँ-बाप ने उन्हें याहुशुआ का परिचय नहीं दिया है| केवल मैं याहुशुआ, उनकी सुरक्षा हूँ! तेरे स्कूलों में शैतान को स्वागत किया गया है और अपिवत्रता और अनैतिकता से भरी है| सारे माता-पिता उठो और उन स्कूलों से अपने बच्चों को निकालो जहाँ मेरे पवित्रता को उनके परवरिश में आने की अनुमति नहीं दी जाती| उठो माता-पिता और अपने सरकारों से कहो की तुम्हें हक़ है अपने बच्चों को अनुशासित करने का| मैं उन्हें अनुशासित करता हूँ जिनहे मैं प्रेम करता हूँ! उनमें परम पिता परमेश्वर याहुवे का भय होना चाहिये और अपने माँ-बाप का भय भी होना चाहिये| धर्मभीरू और विनीत भय जो अच्छे चरित्र को विकसित करता है और आत्मा को पोषण देता है| उन्हें ये समझ भी देता है की कुछ नियमों को पालन करना जरूरी है और उन्हें तोड़ने पर मूल्य चुकाना पड़ता है|
स्कूलों को अब इसका मूल्य चुकाना पड़ रहा है| सरकार इसका मूल्य चुका रही है| अभिवावक इसका मूल्य चुका रहे है| सरकार एक कानून लाना चाहती है, अगर तुम उन्हें अनुमति दो तो वो उसे पास भी कर देंगे| इस कानून के अंतर्गत अपने बच्चों को अनुशशित करने के लिए उन्हें थप्पड़ लगाना भी गैरकानूनी होगा| सबसे महत्वपूर्ण, इस देश के और दुनिया भर के युवक मूल्य चुका रहे है| उन्हें मेरी जरूरत है पर बहुत ही कम अभिवावक यह सिखाते है की केवल मैं ही वह मार्ग हूं, सच्चाई और जीवन हूं| पवित्रता अनिवार्य है और अंतिम दिनों (end times) में तो यह अति आवश्यक है| इस कानून से डरो! इस कानून से लड़ो! क्योंकि अगर तुम्हें लगता है की तुम्हारे बच्चे अभी हठी है तो यह तो केवल अनेवाले उस विद्रोह का नमूना मात्र है| इस हादसे में जिन बच्चों ने हत्या की सिर्फ उनके हाथ खून से रंगे नहीं है बल्कि शिक्षा बोर्ड के हाथ भी खून से रंगे है| उन अभिवावकों के हाथ भी खून से रंगे है जिन्होने अपने बच्चों को पवित्रता नहीं सिखाया|
स सरकार के हाथ भी खून से सने है| यह खून अमेरिका के सर पर है और यह लहू मेरे पुत्र, याहुशुआ हामशियाख, का लहू नहीं है| इस खून ने इस देश को पूरी तरह से ढ़क लिया है और यह खून उन लाखों मासूम बिलखते बच्चों के हैं जिन्हें हर रोज, २४ घंटे, मार दिया जाता है|
जब तुम लोगों ने कहा की माँ की कोख में पल रहे बच्चों को मारना जायज है क्योंकि हम उनकी दबी हुई चीखें नहीं सुन पाते जो सिर्फ मैं सुन पता हूँ। मैं तुझे कहता हूँ की तू अब उन बच्चों की चीखें, जो तुझे सुनाई देती है, वो सुनेगा| बुतपरस्तों के बच्चों की चीखें, बच्चे जिन्हें तू देख पाता है उनकी चीखें| बच्चे जो बिलकुल मासूम और निर्दोष हैं और उनकी तरह ही है जिन्हें गर्व में ही मर दिया जाता है| हत्या, हत्या है, विद्रोह विद्रोह होता है, और उनमें लिप्त अपवित्र आत्मा भी समान है| मुझे सब कुछ दिखाई देता है! मुझे सब कुछ सुनाई देता है! जब तक यह देश कोख में की गई हत्याओं का प्रायश्चित नहीं करता और उसे नहीं रोकता, तु और भी बच्चों को मरते हुए देखेगा| यह मत समझ की मैं तेरे मज़ाक उड़ाने को देर तक बरदास्त करने वाला खुदा हूँ|
तेरे कलिसियों में मेरे प्रेम का प्रचार किया जाता है पर वे मेरे बच्चों को यह नहीं सिखाते की मैं केवल सर्वशक्तिमान प्रेम का परमेश्वर नहीं, सर्वशक्तिमान क्रोध का परमेश्वर भी हूँ| पुराने जमानों में मैं शहर के बीचोंबीच बच्चों को पत्थर मारके हत्या करने की आज्ञा देता था| हठ और विद्रोह से भरे बच्चे जिन्हें उनके माँ-बाप नियंत्रण नहीं कर पाते थे और जिसकी वजह से और भी विद्रोह बड़ता था| मैं सबसे पहला पत्थर माँ-बाप को मारने को कहता था| और अब तो ऐसे कानून बन गए है की बच्चों को अभिवावक पिछवाड़े पर भी नहीं मार सकते जोकि मैंने बिलकुल इसी कम के लिए बनाया है|
अब ऐसे कानून बन चुके है की बच्चों को थोड़ी देर कैद में रखने के बाद, बस उनके कलाई में एक थपड़ मारकर उन्हें छोड़ दिया जाता है | ये समझलो, मैं तुम्हें कह रहा हूँ, वे बच्चे फिर से हत्या करेंगे क्योंकि वो दुष्ट आत्मा उनके अंदर अभी भी मौजूद है और अगली बार अपराध और भी ज्यादा भयवह होगा अगर उस दुष्ट आत्मा को बाहर न निकाला गया| तुम्हारे बाल सुधार गृहों/ किशोर गृहों को याहुशुआ की जरूरत है, इन बच्चों और किशोरों के अंदर से बुरी आत्माओं और पिशाचों को निकालने के लिए| उन्हें यह पता भी नहीं है की वे खुद ट्रिग्गर नहीं दबा रहे थे, ना ही ये सब प्लान किया था| वे तो केवल इस सतरंज के बिसात में प्यादे थे और उन्हें सिर्फ चाल का महसूस हुआ|
अमेरिका पश्चाताप कर क्योंकि वो नर्क से आयी अंधकार की चादर के वजह से तुझे लगता है की तू जो गुप्त मे करता है वो कभी बेनकाब नहीं होगा| सामलैंगिकता को बस एक अलग जीवनसैली कहके उसे बढ़ावा देना चाहता है पर वो नर्किय अंधकार तुझे सच्चाई की किरण देखने से रोक रही है| सामलैंगिकता मेरे नजर मे अति घृनित है! मैंने तुझे सतर्क करने के लिए AIDS भेजा पर तू उसे नजरंदाज कर इलाज ढूंढने में लग गया| मैं अब उससे कई ज्यादा भयंकर महामारी तुझे भेजूँगा| काला उबलने वाले खून की महामारी! ये उन सबको पीड़ित करेगी जो तेरे बच्चों को चाँदी के चमच्च में सामलैंगिकता की आत्मा जबर्दस्ती खिला रहे है| ये महामारी की शुरुआत एलेन “डेजेनेरेट” (पतित) (Ellen DeGeneres) से होगी और ये व्हाइट हाउस (White House) में भी घूस चुकी है| तू मेरी और खिल्ली उड़ाता जा!
तू समझता है, क्योंकि मैं अदृश्य हूँ तो मुझे जो तू बोलता है और करता है वो दिखाई और सुनाई नहीं देता| तुझे लगता है की शादी जैसे पवित्र बंधन का तु मज़ाक उड़ा सकता है| तु सोचता है के मेरे दस उपदेशों का अब कोई मतलब नहीं है| मैं क्रोधित हूँ और कहता हूँ की वे सब जो मेरे चेहरे के सामने अपनी अपवित्रता की नुमाइश करते है, तुम्हें पता चलेगा की मेरे मज़ाक उड़ाने वालों का मैं क्या हाल करता हूँ| तु भुगतेगा! तेरे बच्चे भुगतेंगे! तेरा देश भुगतेगा! पर वो नहीं जो मेरे अपने हैं; मैं मेरे बच्चे जिन्होने अपना हृदय, जीवन, अंतर मन और आत्मा अपने सृष्टिकर्ता और मुक्तिदाता को सौंपा है, मैं उनकी रक्षा करूंगा, उन्हें आश्रय दूंगा और उन्हें आशिसित करूंगा|
बुतपरस्त, तु जो मेरे नजर में घृणित कार्य करता है और उसे मीडिया में और यहां तक की अपने गानों में भी संभोधित करता है| तु चाहता है की सब के पास गर्वपात, इच्छामृत्यु (euthanasia) और समलैंगिकता की आजादी होनी चाइए| तु जो अभिभावकों से अपने बच्चों को परमेश्वर के भय और आदर में परवरिश करने का हक छिनता है, तुझे पता चलेगा मैं याहुवे में आक्रोश और प्रेम दोनों का संतुलन है और तुझे पता चलेगा क्या होता है जब तुझे कही ओर से नहीं मेरे हाथों से सजा मिलेगी| तुझे कही नहीं बल्कि मेरे ओर ही भागना पड़ेगा| ये नई महामारी की शुरुआत हो चुकी है| बहुत ज्यादा थकान, बहुत तेज बुखार और खून का काला पड़ना, कोई रोग प्रतिरोधक छमता नहीं रहेगी और तू अपने मूहाँ से खून की उल्टियां करेगा। खून बहेगा!
क्योंकि तूने क्यालवारी (Calvary) में बहे उस पाक खून का मज़ाक उड़ाया है, अब मैं तेरा मज़ाक उड़ाऊंगा, तेरे खून से, जो तेरे गंदगी को दर्शाता है| तू प्रार्थना करेगा की तुझे मौत मिले पर वो भी आसानी से नहीं मिलेगी तुझे| अपने पापों से प्रायश्चित कर अभी! मेरे अजन्मे बच्चों को मारना छोड़ दे| इस विश्व के युवाओं को अपने अपवित्रता के दुर्गंध से दूषित करना छोड़ दे| अपने पापों से प्रायश्चित कर अभी अमेरिका! देखता जा जिन्हें तू लीडर मानता है वो अब लीडर नहीं रहेंगे| अपने पापों से प्रायश्चित कर अभी! वह तेरे मीडिया में नर्क का शोर जो हर पवित्र बातों को कोषता है और जो देखकर युवायें वही दोहराते है, ये बिना समझे के कैसे वो बातें मुझे क्रोधित करती हैं, अब रुकना चाहिए| मैं मेरे आक्रोश की छड़ी से तुझे पिटुंगा, जब तक तू प्रायश्चित नहीं करता|
जो मेरे अपने है और तुम्हें पता है जो मेरे अपने हो, तुम्हारा एक रिश्ता है तुम्हारे मसीहा के साथ और तुम मुझे प्यार करते हो और हर कार्य में मुझे आगे रखते हो| तुम पहचानते हो उस नकल को जो शैतान मुझे चिड़ाने के लिए गारलेंड (Garland), टेक्सस (Texas), में इस्तेमाल कर रहा है| तुम छलित नहीं होते हो; तुम्हें पता है तुम्हारे याहुशुआ जल्द ही आ रहे है| और जब यह खिल्ली उड़ाना और नकलियों का ढोंग चल रहा होगा, तुम धोखा नहीं खाओगे| तुम मेरे बेशकीमती खजाना हो, इतने कीमती के शब्दों में वर्णन नहीं किया जा सकता| तुम्हें पता है तुम किस नाम पे भरोसा करते हो, तुम और तुम्हारे आत्मा के उद्धार के लिये| तुम्हारे बच्चे सुरक्षित है मेरे एक हथेली में और मैं दूसरे हाथ से उनको ढकता हूँ, मानो वे कोई चूज़े हों| मैं उनकी रक्षा करूंगा वे जो मेरे है, वे जो मेरे होने की इच्छा करते है, मैं तुम्हारी प्रतीक्षा कर रहा हूँ| मुझे कोई इच्छा नहीं की मैं तुम्हें अपने यातना के लाठी से पीटूँ| मेरी लाठी और मेरी छड़ी तुम्हें आराम, सुरक्षा और दिशा निर्देश देने के लिए है (भजन सहिता २३:४)|
भजन सहिता २३:४
४ हाँ, चाहे मैं मृत्यु के साये के घाटी से होकर चलूँ, तो भी मैं किसी बुराई से नहीं डरूँगा: क्योंकि आप मेरे साथ हो; आपकी लाठी और छड़ी मुझे आराम और भरोसा दिलाते है |

मेरी लाठी मेरे बच्चों की रक्षा के लिए है जब मैं उनके और मेरे दुश्मनों पर अपना कोप और श्राप उड़ेलुंगा| मेरी लाठी जरूरत पड़ने पर मेरे बच्चों को अनुशासित करने के लिए भी है, उसी तरह तुम्हें भी जरूरत पड़ने पर अपने बच्चों को अनुशासित करना है| मेरी क्रोध की लाठी सिर्फ उनके लिए है जो पूरी तरह मेरे खिलाफ विद्रोह पर उतर चुके है| सावधान! मेरे कोप की लाठी अमेरिका पर गिरने वाली है| सावधान! मेरे कोप की लाठी उन देशों पर गिरने वाली है जिन्होने निश्चित कर लिया है की वे दूसरे भगवान को पुजेंगे| मेरी ये इच्छा है की मैं तुम्हें अपने चरवाहे की लाठी से दिशा निर्देश करूँ, जो तुम्हें सुरक्षा प्रदान करती है और तुम्हारी मार्गदर्शन करती है| जो दुश्मनों को मारके भगाती है, उन भेड़ियों को जो अच्छे के भेष में आते है लेकिन बुरे हैं|
मेरे प्यारे बच्चों समझो की कोई भी धर्म किसी आत्मा को नर्क से नहीं बचा सकती| केवल याहुशुआ हा मशियाख, याहुवे और रुहाख हा कोडेश (पवित्र आत्मा) उन्हें बचा सकते है| सच यही है की उद्धार केवल याहुशुआ हा मशियाख (येशु मसीह) के नाम, मेरे कल्वरी में बहे रक्त और पवित्र वचन, जब उसे याहुशुआ हा मशियाख के नाम से बोला जाता है, से पाया जा सकता है! केवल प्रायश्चित कर और पाप से मुंह मोड कर और पूरे बल से एक पवित्र जीवन जीने की कोशिश कर और मेरे आज्ञाओं को मानकर तू नर्क से मुक्ति पा सकता है| ये जानकार की तू सर्वश्रेस्ठ नहीं है पर तू रोज मुझे खुश रखने का प्रयत्न करता है और वही करता है जो मैं चाहता हूँ की तू करे| बाकी सब को मैं कहता हूँ “तेरी हिम्मत कैसे हुई?”
तेरी हिम्मत कैसे हुई की तू मुझे दोषी ठयराये, उन बुराइयों के लिए जो तूने अपने सर और अपने बच्चों के ऊपर खुद ही निमंत्रित किया है? तो वही कटाई कर रहा है जो नर्क का अंधकार तूने बोया था और कल्वरी के याहुशुआ हा मशियाख को छोड़कर तेरे पास कोई छुटकारा दिलाने वाला नहीं है| केवल मैं ही प्रकाश का स्रोत हूँ पर कितने मुझे पुकारेंगे ताकि मैं उन्हें बचा सकूँ? एक बार फिर मैं मेरी भविष्यवक्ता और सेविका, पासटर शेर्री एलिजा (Pastor Sherrie Elijah) एलिशेवा शेर्री एलियाहु (Elisheva Sherrie Eliyahu) के मुंह से यह चेतावनी दे रहा हूँ, इसलिए नहीं की वह क्या है पर इसलिए के मैं “I AM”, महान सर्वशक्तिमान परमेश्वर याहुवे ने बोला है! जिसके पास सुनने के लिए कान है वह सुनें और जाने और वो जो बेहरे और अंधे है वे और भी ज्यादा आत्मिक रूप से अंधे और बेहरे बनते जाएँ|
*******
3/26/98 3:54 PM यह विनीत मिट्टी के बर्तन, भविष्यवक्ता एलीसाबेथ एलिजा (Prophet Elisabeth Elijah) (यहूदी में एलीशेवा एलियाहु) (Elisheva Eliyahu in Hebrew) को दिया गया भविष्यवाणी|
जब मैं यह भविष्यवाणी अपने वेबसाइट मैनेजर को फोन से दोहरा रही थी तो मैं डर से काँप गयी जब उस हिस्से में पहुंची जहा उस नए महामारी का जिक्र हो रहा है जो एड्स (AIDS) से भी ज्यादा खतरनाक होगा| फिर मैं अन्य भाषा में बोलने लगी, आत्मिक लड़ाई वाली भाषा में| और जब मेरी आँखें बन्द थी तो मैंने एक बहुत ही भयंकर काला बादल देखा| फिर मैंने महसूस किया की वह याहुवे के क्रोध के बादल है और वे अभी मेरे मुंह से अपने क्रोधित शब्दों से गरज रहे थे| इसके बाद अब बिजली कड़केगी! वे अपने लक्ष्य पर वार करेंगे! श्रापित है वह विद्रोही जो इस चेतावनी को नहीं समझ पाता है| याहुशुआ मुझे इन चेतावनियों को बताने के लिए केवल एक मुखपत्र की तरह इस्तेमाल करते है अपने अनुग्रह से ताकि विद्रोह में जीने वाले प्रायश्चित करें| उसके बाद आएगी कयामत| सावधान सर्वशक्तिमान याहुवे के लाठी से! वापस आजाओ अपने पूर्वजों के ईश्वर के पास! पिछे मुड़ जा अमेरिका याहुशुआ हा मशियाख के तरफ, इससे पहले के बहुत देर हो जाये|
नीचे एक दूसरी भविष्यवाणी है जो ये स्थापित करती है जो याहुवे ने इस नए भविष्यवाणी “सावधान उस अंधकार के चादर से जो नर्क से है” में कहा है| यह नीचे दिये गए वचन मुझे किसी और ने फोरवर्ड (forward) किया था| याहुवे ने मुझे दिखाया की हमारे स्कूलों को अंधकर से निकली हुई एक काली चादर ने ढ़क लिया है| हमें प्रार्थना और व्रत रखना होगा इसके लिए की यह काली चादर हट जाए| याहुवे कहते है – “मुझे मेरे लोगों की प्रार्थना सुनाई देती है जब वो पूरे दिल से प्रार्थना करते है| अगर हम प्रार्थना और लड़ाई नहीं करेंगे, आत्मिक धरातल में भौतिक जीवन में नहीं, तो हमें और भी विनाश देखना पड़ेगा| दुश्मन हमारे विनाश के लिए क्या करता है? वो अंदर से काम करता है| हमें बाहर से ज्यादा अंदरूनी खतरों से सजग रहना चाहिए| प्रार्थना करो और इस पीड़ी के लिए अब हिमायत करो |अच्छा रहेगा अगर एक खास दिन इस प्रार्थना और हिमायत के लिए रखा जाए, पर मेरे हिमायतकारों को प्रतीक्षा की जरूरत नहीं क्योंकि वक़्त आ चुका है, वह आत्मिक तलवार जो मेरा वचन है, मयान से बाहर निकालने का और मेरे छोटे बच्चों के खातिर लड़ने का”|
“क्या मैंने वचन में यह नहीं कहा था की किसी इंसान के लिए मेरे एक भी छोटे बच्चों को हानी पहुंचाने से बेहतर होगा की उसके गर्दन में एक बड़ा सा चक्की का पत्थर लटका के समुंदर में फेंक दिया जाए? सिपाइयों अपना कवच पहन लो और लड़ो क्योंकि यह मेरी, याहुवे की लड़ाई है। मैं याहुवे, उन बर्तनों को इस्तेमाल करूंगा जो तैयार है मेरे आत्मिक शक्ति को एक माप में ग्रहण करने के लिए, ताकि वे सशक्त हो सके आत्मिक धरातल में इस लड़ाई को लड़ने के लिए| डरो नहीं ना ही घबराओ क्योंकि मैं, याहुवे, तुम्हारा परमेश्वर तुमसे पहले चलकर तुम्हारे तरफ अनगिनत सुरक्षा के स्वर्गदूतों को भेजता हूँ, मेरे छोटे बच्चों की रक्षा के लिए और तुम्हारे पहरेदारी के लिए; ध्यान रहे यह याहुवे का वचन है”|
३ सितंबर, १९९२, को मैंने एक सपना देखा था जो मैं उम्मीद करती हूँ दूसरे वेबपेज़ में पोस्ट होगी| याहुशुआ मुझे पहले ही बता चुके थे इस महामारी के बारे मे जो आ चुकी है| पर मैं समझ नहीं पायी; मैं वो सपने को आपके साथ शेर करूंगी जब मैं उसे अपने नोट्स से कॉपी कर लूँ| मैं यह दावा नहीं करती की मुझे पूरा ज्ञान है इस सपने के बारे में| अगर रुहाख हा कोडेश (पवित्र आत्मा) आपको इस के बारे में पूरा ज्ञान देते हैं तो कृपया मुझे ईमेल करें और मैं रुहाख हा कोडेश के निर्देश अनुसार उसे पोस्ट करूंगी |
*******